नई दिल्ली.  टेलीकॉम रेग्यूलेटरी ट्राई ने इंटरनेट टेलीफोनी तकनीक को मंजूरी दी है. इसके तहत आप बहुत ही जल्द फोन में नेटवर्क ना होने के बाद भी किसी भी मोबाइल या लैंडलाइन नंबर पर कॉल कर पाएंगे.

ट्राई ने कहा कि इस तरह के इंटरनेट टेलीफोनी एप को मोबाइल नंबर सीरीज से जोड़ा जाएगा. दूरसंचार कंपनियां कॉल के लिए शुल्क लेंगी और उन पर सामान्य कॉल से जुड़े सभी नियम लागू होंगे. इसके तहत यूजर्स वाईफाई के जरिए कॉलिंग कर पाएंगे.  इंटरनेट टेलीफोनी के लिए ट्राई ने दूरसंचार विभाग को अपनी सिफारिशें सौंप दी हैं. इसमें ट्राई ने व्हॉट्सऐप जैसे ऐप के जरिए मोबाइल कंपनियों के नेटवर्क पर कॉल करने के कुछ नियम सुझाए हैं. ट्राई के इस फैसले से उन पिछड़े गावों में काफी सहायता मिलेगी जहां पर पब्लिक इंटरनेट तो है पर किसी कंपनी के नेटवर्क नहीं है. ट्राई के इस फैसले से दूरसंचार कंपनियां नाखुश है और इसका विरोध जता रही है.