चुनाव आचार संहिता उल्लंघन के आरोप में भारतीय जनता पार्टी के सांसद को एक महीन की सजा सुनाई गई है. सिद्धार्थनगर की स्थानीय अदालत ने उनके खिलाफ ये फैसला सुनाया.

जगदंबिका पाल को 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का दोषी पाया गया. जिसके तहत कोर्ट ने उन्हें एक महीने के कारावास की सजा सुनाई. हालांकि, सांसद को अदालत से तुरंत जमानत भी मिल गई.

वरिष्ठ अभियोजन अधिकारी केशव पाण्डेय ने बताया कि तत्कालीन एसडीएम ने पाल के खिलाफ बंसी कोतवाली में आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज कराया था. मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सीजेएम संजय चौधरी ने पाल को लेकर शुक्रवार को फैसला सुनाया. पाण्डेय ने बताया कि सीजेएम ने पाल पर सौ रुपये जुर्माना भी लगाया है.

अदालत ने जगदंबिका पाल को तत्काल जमानत दे दी. उन पर आरोप था कि 2014 के लोकसभा चुनाव में एक रैली के दौरान उन्होंने तय संख्या से अधिक वाहनों का इस्तेमाल किया था.

बता दें कि कोर्ट का ये फैसला उस बीच आया है, जब गुजरात चुनाव में दोनों राष्ट्रीय पार्टियों के बड़े नेताओं पर आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप लगे. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को तो बाकायदा चुनाव आयोग ने नोटिस भी भेजा. हालांकि, बाद में वो वापस ले लिया गया.