संयुक्त राष्ट्र: संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में आज अमेरिका द्वारा प्रस्तावित उस मसौदे पर मतदान होगा, जिसमें प्योंगयांग के मिसाइल एवं परमाणु कार्यक्रमों के लिए महत्वपूर्ण तेल की आपूर्ति पर प्रतिबंध और कड़े जाने की बात कही गई है. अमेरिका, 28 नवंबर को हुए अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) प्रक्षेपण की प्रतिक्रिया के रूप में प्योंगयांग पर और कड़े प्रतिबंध लगाने के मद्देनजर उसके सहयोगी चीन के साथ बातचीत कर रहा है.

राजनयिकों ने बताया कि मतदान स्थानीय समयानुसार दोपहर एक बजे होगा. नए मसौदे में, पिछले प्रतिबंधों को कड़ा करते हुए उत्तर कोरिया पर कच्चे एवं परिष्कृत तेल के वितरण संबंधी प्रतिबंध कठोर किए गए हैं.

‘एएफपी’ को मिली जानकारी के अनुसार इन उपायों के तहत उत्तर कोरिया को मिलने वाले परिष्कृत तेल के करीब 90 प्रतिशत पदार्थों की आपूर्ति पर प्रतिबंध लगाया जाएगा और विदेशों में काम करने वाले सभी उत्तर कोरियाई नागरिकों को 12 महीने के भीतर देश लौटने का आदेश भी दिया जाएगा.

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पिछले माह अपने चीनी समकक्ष शी चिनफिंग से उत्तर कोरिया को तेल की आपूर्ति बंद करने को कहा था ताकि उसकी बुरी तरह प्रभावित अर्थव्यवस्था को एक बड़ा झटका लगे.