अगले बजट में मध्यम वर्ग को बड़ी राहत देते हुए सरकार आयकर छूट की सीमा को ढाई लाख से बढ़ाकर तीन लाख कर सकती है। आगामी आम बजट में सरकार टैक्स छूट सीमा बढ़ाने के साथ-साथ टैक्स स्लैब में भी बदलाव कर सकती है।

सूत्रों के अनुसार, वित्त मंत्रालय के सामने व्यक्तिगत आयकर छूट सीमा को मौजूदा ढाई लाख रुपए से बढ़ाकर तीन लाख रुपए करने का प्रस्ताव है। साल 2018-19 का आम बजट मोदी सरकार के मौजूदा कार्यकाल का अंतिम पूर्ण बजट होगा।
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पिछले बजट में आयकर स्लैब में कोई बदलाव नहीं किया था लेकिन छोटे करदाताओं को राहत देते हुए ढाई लाख से लेकर पांच लाख रुपए सालाना कमाई करने वाले लोगों के लिए आयकर की दर 10 प्रतिशत से घटाकर पांच प्रतिशत कर दी थी।
सरकार आयकर स्लैब में भी बदलाव कर 10 लाख से 20 लाख रुपए के बीच नया स्लैब बना सकती है। इसमें दल 20 प्रतिशत रहने की संभावना है।