चंडीगढ़ के हाई प्रोफाइल स्टॉकिंग केस में सोमवार को कोर्ट में हुई सुनवाई के दौरान वरिष्ठ आईएएस अधिकारी वीरेंद्र कुंडु की बेटी वर्णिका कुंडु से करीब पांच घंटे में 500 सवाल पूछे गए. इस मामले में हरियाणा बीजेपी के अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला मुख्य आरोपी है.

इस सवाल-जवाब के दौरान वर्णिका ने बताया कि घटना से एक दिन पहले यानी 3 अगस्त को उनकी कार खराब हो गई थी और अगले दिन वर्णिका सेक्टर 8 से रात 11.15 बजे अपनी कार लेने पहुंची. आरोप है कि इसके एक घंटे बाद विकास बराला और उसके दोस्त ने वर्णिका की कार का पीछा किया.

बचाव पक्ष का आरोप

बचाव पक्ष के वकील रवींद्र पंडित ने दावा किया कि घटना से एक घंटे पहले वर्णिका के मोबाइल टॉवर का लोकेशन रोपड़ जिले के फतेहपुर गांव, चमकौर साहिब पाया गया था. जबकि वर्णिका ने इस दावे को खारिज करते हुए कहा कि वो रोपड़ में नहीं थी.

सूत्रों के मुताबिक अपनी बात साबित करने के लिए बचाव पक्ष ने वर्णिका के दिए बयान पर सवाल उठाया. बचाव पक्ष की ओर से आरोप लगाया कि वर्णिका के अंकल और पिता ने शिकायत लिखी और वर्णिका के हस्ताक्षर भी फर्जी थे. बता दें कि बचाव पक्ष के वकील रवींद्र पंडित ने अपने नोट्स उर्दू में तैयार किए थे, इसका मतलब है कि वर्णिका के वकील मनु कक्कड़ उसे नहीं पढ़ सकते थे.

वर्णिका से पूछे गए कुछ सवाल-

1. आपका पसंदीदा संगीत?

2. आप किस तरह का संगीत सुनना और चलाना पसंद करती हैं?

3. क्या आपको जगह-जगह लगे सीसीटीवी कैमरों की जानकारी है?

4. आपने पीसीआर को कब कॉल किया?

5. क्या आपने इस घटना के बारे में अपनी मां को बताया?

7. FIR दर्ज होते समय थाने में आप और आपके पिता के साथ कोई वकील मौजूद था या नहीं?

8. आपने बयान देते वक्त या फिर पीसीआर को किडनैपिंग की बात बताई थी?

ये है मामला?

4 अगस्त की रात करीब 12 बजे चंडीगढ़ में आईएएस अधिकारी की बेटी वर्णिका अपनी कार से जा रही थी. तभी कार सवार दो लड़कों ने उसका पीछा किया. उसकी कार के आगे अपनी कार लगाकर उसे रोकने की कोशिश की और कार के शीशे पर हाथ मारे. वर्णिका ने 100 नंबर पर कॉल कर पुलिस को बुलाया और तभी पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया था.