अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे पर निशाना साधा है. उन्होंने मे को सलाह दी कि उन्हें ब्रिटेन में आतंकवाद पर ध्यान देना चाहिए. ट्रंप ने ट्वीट कर कहा कि, ‘टेरीजा मे, मुझ पर ध्यान मत दीजिए, कट्टरपंथी इस्लामिक आतंकवाद पर फोकस कीजिए, जो ब्रिटेन में पनप रहा है. हम अच्छा काम कर रहे हैं!

बता दें कि  ब्रिटेन फर्स्ट नाम के एक समूह के ट्वीटर हैंडल से मुसलमान विरोधी वीडियो को ट्रंप ने री-ट्वीट किया था जिसके बाद सोशल मीडिया पर बहुत हंगामा हुआ. टेरीजा मे ने इस मुस्लिम विरोधी वीडियो शेयर करने के लिए ट्रंप की आलोचना की थी. उन्होंने कहा था कि ट्विटर पर डोनाल्ड ट्रंप द्वारा अति दक्षिणपंथी समूह से संबंधित विवादित मुस्लिम विरोधी वीडियो को रीट्वीट करना गलत है. उनके एक प्रवक्ता ने कहा, ‘राष्ट्रपति द्वारा ऐसा करना गलत है.’

वहीं ब्रिटेन के विपक्षी नेता जेरेमी कॉर्बिन द्वारा ट्रंप के ट्वीटों को घृणित और खतरनाक करार दिया गया. कॉर्बिन ने कहा, ‘मुझे उम्मीद है कि हमारी भविष्य की सरकार डोनाल्ड ट्रंप द्वारा अति दक्षिणपंथी रीट्वीटों की निंदा करेगी. वे घृणित, खतरनाक और हमारे समाज को खतरा हैं.’

व्हाइट हाउस ने किया बचाव

इसके बाद व्हाइट हाउस ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा धुर-दक्षिणपंथी ब्रिटिश अकाउंट पर डाले गए मुस्लिम विरोधी वीडियो को री-ट्वीट किये जाने का बचाव किया. व्हाइट हाउस ने दलील दी कि ट्रंप लंबे समय से राष्ट्रीय सुरक्षा का मुद्दा उठा रहे हैं.

राष्ट्रीय सुरक्षा का मुद्दा उठा रहे हैं ट्रंप

व्हाइट हाउस में प्रधान प्रेस उपसचिव राज शाह ने एयर फोर्स वन में कहा, ‘‘राष्ट्रपति इन सुरक्षा मुद्दों पर वर्षों से बात कर रहे हैं, वह चुनाव प्रचार अभियान से लेकर व्हाइट हाउस आने तक इस मुद्दे को उठाते रहे हैं. वह इस संबंध में टि्वटर पर बात करना जारी रखेंगे, वह इनके संबंध में भाषणों में बोलेंगे, वह इसपर अपनी नीतियों में भी बोलेंगे.’’

उन्होंने रेखांकित किया कि रक्षा और सुरक्षा ट्रंप प्रशासन की प्राथमिकताएं हैं. उन्होंने कहा, ‘‘देखिए, फिलहाल हम आव्रजन नीति पर मतभेदों के कारण सरकारी कानूनों को पारित करने में आने वाली समस्याओं पर विचार कर रहे हैं. डेमोक्रेट्स की प्राथमिकता क्षमा है. हमारी प्राथमिकता रक्षा और सुरक्षा है.’’