बेंगलुरू। नए साल में भारत अंतरिक्ष में एक और ऊंची छलांग लगाने जा रहा है। 12 जनवरी को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र यानी इसरो एक साथ अंतरिक्ष में 31 सैटेलाइट लॉन्च करेगा।

इसमें धरती पर नजर रखने वाले स्पेसक्राफ्ट कार्टोसैट भी शामिल है। पहले इसे दस जनवरी को लॉन्च किया जाना था। स्पेस एजेंसी इसरो के पब्लिक रिलेशन डायरेक्टर देवी प्रसाद कार्णिक ने बताया कि- ‘इस रॉकेट से कार्टोसैट और दूसरे सैटेलाइट को लॉन्च किया जाएगा। जिसमें अमेरिका के 28 सैटेलाइट के अलावा पांच और देशों के उपग्रह शामिल हैं।’

ये रॉकेट लॉन्च आंध्रप्रदेश के श्रीहरिकोटा से 12 जनवरी को सुबह साढ़े नौ बजे किया जाएगा। नए साल पर भारत का ये पहला अंतरिक्ष अभियान होगा। जिसमें पोलर सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल सी 40( PSLC-C40) का इस्तेमाल होगा। चार महीने पहले 31 अगस्त को इसी तरह का एक रॉकेट देश के आठवें नेवीगेशन सैटेलाइट को धरती की कक्षा में स्थापित करने में नाकाम रहा था।

इस मिशन में कार्टोसैट-2 के अलावा भारत की तरफ से एक नैनो और माइक्रो सैटेलाइट भी अंतरिक्ष में छोड़ा जाएगा। कार्टोसैट की मदद से मिलने वाली हाई क्वालिटी तस्वीरों का अलग-अलग योजनाओं में इस्तेमाल किया जाएगा। इससे सड़कों के काम की मॉनिटरिंग भी की जा सकेगी।