नरेंद्र मोदी सरकार ने अपने लगभग 4 साल के कार्यकाल में कए बड़े आर्थिक रिफॉर्म किए हैं। इनमें से एक नोटबंदी भी है। मोदी सरकार नोटबंदी के बाद अब ‘सिक्का बंदी’ की तैयारी में जुटी है।

उल्लेखनीय है कि नोएडा, मुंबई, कोलकाता और हैदराबाद के सरकारी टकसालों में सिक्के का प्रोडक्शन बंद हो गया है। भारत सरकार की ओर से इन चार जगहों पर ही सिक्के बनाए जाते हैं। इस बारे में आरबीआई के अधिकारियों ने बताते हुए कहा कि सिक्के का प्रोडक्शन मंगलवार से ही बंद हो गया था।
ये है सिक्के बंद होने की वजह
सिक्का बंद करने के पीछे वजह बताई जा रही है कि नोटबंदी के बाद भारी मात्रा में सिक्के बनाए गए थे। ये सिक्के आरबीआई के स्टोर में काफी मात्रा में उपलब्ध हैं। सूत्रों की मानें तो 8 जनवरी तक 2500 एमपीसीएस सिक्कों का स्टोरेज है और यही कारण है कि आरबीआई के अगले आदेश तक सिक्कों का प्रोडक्शन रोक दिया गया है।
गौरतलब है कि 8 नवंबर 2016 को मोदी सरकार में भारत में नोटबंदी का फैसला लिया था। जिसके बाद 500 और 1000 रुपए के नोटों को गैर-कानूनी करार दिया गया था। केंद्र सरकार से जब नोटबंदी का कारण पूछा गया तो बताया कि देश में भ्रष्टाचार और काले धन को खत्म करने के लिए ऐसा किया गया है।