नई दिल्ली: रेप के आरोप में घिरे दिल्ली के बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित का मामला अब छापेमारी से आगे बढ़कर राजनीतिक रंग भी ले चुका है. आम आदमी पार्टी ने बीजेपी पर बाबा से साठगांठ और पैसे लेने का इल्ज़ाम लगाया है. बीजेपी ने इन आरोपों को झूठा बताया है.

आप नेता संजय सिंह ने इस मामले में दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल और दिल्ली पुलिस की भूमिका पर भी सवाल उठाए हैं. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट कर उप राज्यपाल से फौरन कार्रवाई की मांग की है.

उन्होंने लिखा- मैं उपराज्यपाल से अपील करता हूं कि वो इस विवाद में हस्तक्षेप करें और बाबा के खिलाफ कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित करें. इस विवाद में कोई पुलिसकर्मी संलिप्त है तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई की जाए.

इधर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालिवाल ने सीबीआई से जल्द से जल्द एक्शन मोड में आने की मांग की है.

बाबा के आश्रमों पर छापेमारी का सिलसिला जारी है. इसी कड़ी में एमपी के सतना में भी पुलिस ने दबिश दी. पुलिस को जानकारी मिली थी कि सतना के आश्रम में बाबा छिपा हुआ है. हालांकि बाबा इस आश्रम में नहीं मिला. बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित पिछले दो हफ्तों से फरार है और दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश के बावजूद वो अब तक कोर्ट में पेश नहीं हुआ है.

दिल्ली में वीरेंद्र देव के खिलाफ रेप का केस दर्ज करा चुकी लड़की ने कहा कि आश्रम में रहने वाली लड़कियों से कनफेशन लेटर लिखवाए जाते हैं. जिनको आश्रम में ही रख लिया जाता है और उनका इस्तेमाल ब्लेकमैल करने के लिए किया जाता है.