सिंगापुर में भारत-आसियान प्रवासी भारतीय दिवस के मौके पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आने वाले दौर में एशिया की सफलता के लिए दक्षिण पूर्व हिस्से के महत्व पर चर्चा की. सुषमा ने बताया कि भारत सभी एशियाई देशों से बेहतर संबंध और सहयोग का इच्छुक है.

आपसी साझेदारी एशियाई देशों के लिए जरूरी

भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने सिंगापुर में आयोजित क्षेत्रीय प्रवासी भारतीय दिवस के आयोजन पर कहा कि पूरा दक्षिण पू्र्व एशिया आपस में और विश्व के बाकी हिस्सों से साझेदारी के चरम पर है. एशिया की सफलता के लिए दक्षिण पश्चिम हिस्सा बेहद अहम है.

भारत को एशियाई देशों से जोड़ने की योजना

भारतीय विदेश मंत्री ने बताया कि आज भारत के 16 शहर सिंगापुर से जुड़े हैं, भारत से थाईलैंड के बीच त्रिपक्षीय हाइवे प्रोजेक्ट जारी है और इसे आगे भी बढ़ाने की योजना है, जिससे भारत को दूसरे एशियाई देशों से जोड़ा जा सके. सुषमा ने कहा कि ये साल मील के पत्थरों का वर्ष है. पिछले साल भारत 70 वर्ष का हुआ, आसियान 50 का हुआ और भारत-आसियान मैत्री 25 साल की हुई.