दक्षिण भारत में अपना रौद्र रूप दिखाने के बाद ‘ओखी’ तूफान ने गुजरात-महाराष्ट्र की ओर अपना रुख किया. गुजरात की तटीय सीमा पर आने से पहले ही तूफान शांत हुआ और दक्षिण गुजरात में बन रहा खतरा थम गया. लेकिन, इस तूफान के कारण नई दिल्ली के लोगों को फायदा हो सकता है.

अमेरिकी एजेंसी नासा की मानें, तो गुजरात और महाराष्ट्र में ओखी का असर तो कम होगा, इसके साथ ही नई दिल्ली और उत्तरी भारत में जो धुंध का जाल बना हुआ है वह भी कम होगा. नासा ने 4 दिसंबर को एक तस्वीर जारी की है, उसके साथ लिखा है कि जो तूफान आ रहा है उसके कारण उत्तरी भारत में मौजूदा धुंध गायब हो सकती है.

गौरतलब है कि राजधानी दिल्ली समेत आस-पास के कई इलाकों में पिछले काफी समय से अपने धुंध ने अपने पैर पसारे हुए हैं. धुंध के कारण कोर्ट, एनजीटी समेत कई एजेंसियों ने दिल्ली और केंद्र सरकार को फटकार लगाई है.

आपको बता दें कि दिल्ली में खेले जा रहे भारत और श्रीलंका के बीच तीसरे टेस्ट के दौरान भी धुंध का असर दिखा. मैच के दौरान श्रीलंका के कई खिलाड़ी मास्क पहन कर मैदान पर दिखे, इन तस्वीरों ने सभी का ध्यान खींचा. इसके बाद भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी की भी मौसम के कारण तबीयत बिगड़ी और उन्होंने मैदान पर ही उल्टी कर दी. कई पूर्व खिलाड़ियों और हस्तियों ने दिल्ली के इस प्रदूषण में अंतरराष्ट्रीय मैच ना करवाने की बात कही.

हल्की बारिश की संभावना

गौरतलब है कि गुजरात में एंट्री से पहले ही ओखी तूफान शांत हो गया है. मौसम विभाग की मानें, तो बुधवार को गुजरात के कुछ इलाकों में बारिश हो सकती है. इनमें सूरत, नवसारी, वलसाड, भरूच, तापी, अमरेली, दीव, दमन समेत दक्षिण गुजरात के इलाके शामिल हैं. गुजरात के अलावा महाराष्ट्र में भी ठाणे, रायगढ़, ग्रेटर मुंबई समेत कुछ इलाकों में भी बारिश हो सकती है.