राहुल गांधी का फोकस इन दिनों गुजरात चुनाव पर वैसे ही है जैसे कि महाभारत के अर्जुन का मछली की आंख पर निशाना लगाते वक्त था. कुछ दिन पहले राहुल गांधी पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए ये बात खुद कह चुके हैं. इसी से समझा जा सकता है कि ‘द ग्रैंड ओल्ड पार्टी’ गुजरात के इस चुनाव को पार्टी कितनी अहमियत दे रही है. लेकिन चुनाव की इस गहमागहमी के बीच ही कांग्रेस के लिए एक और बहुत ही महत्वपूर्ण घटना होने जा रही है. और वो है कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर राहुल गांधी की ताजपोशी. जिस तरह पार्टी अध्यक्ष के चुनाव के लिए कार्यक्रम है, उस के हिसाब से गुजरात चुनाव के नतीजे आने से पहले ही राहुल गांधी कांग्रेस की कमान अपने हाथ में ले चुके होंगे.

राहुल अपनी मां सोनिया गांधी से कांग्रेस अध्यक्ष पद संभालेंगे जिन्होंने 19 साल तक ये जिम्मेदारी संभाली. राहुल की ताजपोशी से पहले दिल्ली में ‘24, अकबर रोड’ स्थित कांग्रेस मुख्यालय में भी हलचल तेज नजर आ रही है.

बदलेगा पार्टी का मुख्य बोर्ड, मीडिया स्टैंड का नवीनीकरण जारी

कांग्रेस मुख्यालय का नज़ारा इन दिनों बदला-बदला सा नज़र आ रहा है. सूत्रों ने बताया कि गेट के बाहर सोनिया गांधी की तस्वीर वाला बोर्ड भी नया लगने वाला है.  नए बोर्ड में सोनिया-राहुल दोनों की तस्वीर होंगी. गेट के भीतर घुसते ही मीडिया स्टैंड है, जिसको हर तरफ से लोहे के पाइपों से घेरा जा रहा है. पुराने पाइपों की वेल्डिंग की जा रही है. जल्दी ही इस स्टैंड के ऊपर शेड भी डाला जाने वाला है.

 मंगाया जा रहा है खास साउंड सिस्टम

पिछले काफी दिनों से सोनिया गांधी का पार्टी मुख्यालय आना बहुत ही कम, ना के बराबर हो गया था. राहुल भी गाहे-बगाहे कांग्रेस मुख्यालय आते थे. अब जब राहुल अध्यक्ष बनने जा रहे हैं तो वो अक्सर पार्टी मुख्यालय आया करेंगे. मीडिया से मुखातिब भी होंगे. इसीलिए अब यहां मीडिया से बात करने की स्थाई व्यवस्था की जा रही है. जर्मनी की कंपनी का अच्छी गुणवत्ता वाला साउंड सिस्टम भी मंगाया जा रहा है. जिससे राहुल मीडिया के समक्ष बोलें तो बिना किसी दिक्कत उनकी आवाज हर तरफ पहुंचे.

 हो रही है मरम्मत, निकाला जा रहा है कबाड़

कांग्रेस मुख्यालय के फ्रंट के टूटे छज्जों की भी मरम्मत कराई जा रही है. साथ ही एयर कंडीशनर्स के पुराने टूटे पाइपों को भी बदला जा रहा है. इसके अलावा बरसों पुराने टाइपराइटर, पुराने कंप्यूटर और तमाम पुराना कबाड़ निकाल कर बाहर किया जा रहा है. इसमें संचार की पुरानी तमाम चीजें भी हैं, जो चलन से बाहर हो चुकीं हैं. एक खस्ताहाल मोपेड जिससे कभी नेताओं के घर डाक जाती थी, अब जाकर उसको भी कबाड़ में डाल दिया गया है. साथ पुरानी टूटी आलमारियां भी कमरों से हटाई जा रही हैं. ये सब होने के बाद मुख्यालय में नया रंग-रोगन कराया जाएगा. कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी का कहना है कि मुख्यालय में मरम्मत और नवीनीकरण तो हर साल होने वाली सतत प्रक्रिया है. प्रमोद तिवारी साथ ही खुशी जताना नहीं भूलते कि राहुल पार्टी की कमान संभालने जा रहे हैं.

रहेगा सोनिया का कमरा, राहुल के कमरे की बदलेगी नेम प्लेट

सूत्रों के मुताबिक ऐसा प्रस्ताव है कि राहुल के अध्यक्ष बनने पर भी उनका कमरा नहीं बदला जाए, बल्कि राहुल के कमरे के बाहर की नेम प्लेट बदल दी जाए, जिस पर कांग्रेस अध्यक्ष लिखा रहेगा. खास बात ये है कि मुख्यालय में सोनिया गांधी का कमरा, जो फिलहाल कांग्रेस अध्यक्ष का कमरा है, वो सोनिया का ही बना रहेगा. इस कमरे के बाहर लगी नेम प्लेट भी बदली जाएगी. इस पर सोनिया गांधी की जो नई पदवी होगी, वो लिखी जाएगी. सूत्रों के मुताबिक पार्टी में मार्गदर्शक मंडल नहीं होगा, लेकिन सोनिया गांधी के लिए एक खास पदवी तय की जाएगी.