जम्मूरमजान के पाक महीने में भी पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है. देर रात सीमा से सटे आरएस पुरा और अरनिया सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से भारी गोलाबारी की गई. पाकिस्तान की फायरिंग में अरनिया सेक्टर में तैनात बीएसएफ के जवान सीताराम उपाध्याय शहीद हो गए और एक जवान जख्मी हो गया. शहीद सीताराम झारखंड के गिरीडीह के रहने वाले थे.

एक ही परिवार के दो लोगों की मौत

गोलीबारी में आरएसपुरा के एक घर पाकिस्तान की ओर से दागे गोले गिरने से परिवार को दो लोगों की मौत हो गई. पाकिस्तान की गोलीबारी में छह से ज्यादा लोग घायल हुए हैं. पाकिस्तान की ओर से लगातार जारी गोलीबारी के देखते हुए अरनिया और आरएसपुरा में सीमा के तीन किमी के दायरे में आने वाले स्कूल बंद कर दिए गए हैं.

शहीद जवान की पत्नी ने कहा- अब मेरे बच्चों का क्या होगा

शहीद सीताराम के घर मातम छा गया है. मीडिया से बातचीत में शहीद की पत्नी ने सवाल उठाया है कि मोदी सरकार ने सीजफायर का आदेश क्यों दिया? उन्होंने कहा, ”हमें मुआवजा नहीं चाहिए. क्या सरकार मेरे पति को वापस ला सकती है. मेरे छोटे बच्चे हैं, अब इनका क्या होगा.”

आधुनिक हथियारों से फायरिंग

पाकिस्तान की तरफ से मोर्टार और आधुनिक हथियारों से फायरिंग हो रही है.  भारत की तरफ से भी पाकिस्तानी की फायरिंग का मुंहतोड़ जवाब दिया जा रहा है. जम्मू कश्मीर के ही बांदीपुरा में रमजान के दौरान घाटी में एकतरफा सीजफायर के सरकार के एलान के बाद भी आतंकियों की करतूत थम नहीं रही है.

बांदीपुरा के हाजिन इलाके में रात करीब डेढ़ बजे आतंकियों ने सेना के पैट्रोलिंग पार्टी पर हमला कर दिया. हमले के बाद सेना ने जवाबी कार्रवाई की. एक जवान गोली लगने से जख्मी हैं. पाकिस्तानी गोलीबारी के चलते 3 किलोमीटर के दायरे में आने वाले सभी स्कूल बंद कर दिए गए हैं.

हमले के फौरन बाद सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेर लिया है. रमजान को देखते हुए सरकार ने आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन रोक रखा था.