टेक महिंद्रा ने रविवार को संकेत दिया कि वह अगली तीन तिमाहियों में करीब 4,000 नए स्नातकों या फ्रेशर्स को नौकरी देगी. आईटी क्षेत्र की इस कंपनी का कहना है कि वह अब मांग आधारित नियुक्तियों पर ध्यान केंद्रित कर रही है. टेक महिंद्रा के मुख्य वित्त अधिकारी मनोज भट ने हाल में निवेशक कॉल में कहा कि मौजूदा वित्त वर्ष की पहली तिमाही में कंपनी ने पहले ही 1,800 फ्रेशर्स की नियुक्ति की है.उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि अगली तीन तिमाहियों में हम करीब 4,000 लोगों की नियुक्ति करेंगे. हालांकि मेरे पास पूरा आंकड़ा नहीं है. इसमें कुछ अंतर हो सकता है.’ मुंबई की कंपनी के कर्मचारियों की संख्या जून, 2018 की तिमाही के अंत तक 1,13,552 थी. यह इससे पिछली तिमाही की तुलना में 745 अधिक है.समीक्षाधीन तिमाही में कंपनी के सॉफ्टवेयर विभाग में 72,462, बीपीओ में 34,700 और सेल्स और सपोर्ट कामकाज में 6,390 लोग कार्यरत थे.कंपनी में कर्मचारियों के नौकरी छोड़कर जाने की प्रवृत्ति पर भट ने कहा कि हम महत्वपूर्ण प्रतिभाओं के जाने को लेकर चिंतित हैं लेकिन इससे कंपनी की क्रियान्वयन क्षमता प्रभावित नहीं होगी.