बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन की बेटी श्वेता नंदा का एक्टिंग डेब्यू विवादों में फंसता दिख रहा है. जानी मानी आभूषण कंपनी कल्याण ज्वेलर्स ने बॉलीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन एवं उनकी बेटी द्वारा अभिनीत करीब डेढ़ मिनट के विज्ञापन को हटा लिया है. ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कन्फेडरेशन के अनुसार इस एड को लोगों के बीच बैंकिंग प्रणाली में अविश्वास की भावना पैदा करना है. जिसके मद्देनजर इस एड को हटा दिया गया है.

कल्याण ज्वलेर्स के कार्यकारी निदेशक रमेश कल्याणरमन ने यहां एक बयान में कहा- ”हमें खेद है कि भूलवश लोगों की भावना आहत हुई और हमने तत्काल प्रभाव से हर मीडिया से यह विज्ञापन हटा लिया है. हम समझते हैं कि विज्ञापन से हमारे सम्मानित बैंकिंग समुदाय के सदस्यों सहित कुछ लोगों की भावना आहत हुई है. इसे देखते हुए ये कदम उठाया गया है.”

हम ये भी बताना चाहते हैं कि एड को क्रिएटिव दृष्टिकोण से फिक्शन के रूप में बनाया गया है और पूरी तरह से बैंकिंग कर्मचारियों को नहीं दर्शाता है. तमाम भारतवासियों समेत मैं बैंकिंग कम्यूनिटी के कीमती सहयोग की सराहना करता हूं.

एड की बात करें तो इसमें अमिताभ बच्चन को एक बूढ़े शख्स के रूप में और श्वेता को उनकी बेटी के रूप में दिखाया गया है. ज्वैलेरी ग्रुप से माफी की मांग करते हुए एआईबीओसी ने बोला था कि अगर कंपनी एड को नहीं हटाती है तो इसका विरोध करने के लिए धरना भी किया जा सकता है.