नई दिल्ली (जेएनएन)। दिल्ली और एनसीआर में गुरुवार सुबह शुरू हुई तेज बारिश शुक्रवार को भी जारी है। रुक-रुक हो रही बारिश से शु्क्रवार को भी गुरुग्राम, नोएडा, फरीदाबाद, गाजियाबाद, ग्रेटर नोएडा और सोनीपत के अलावा देश की राजधानी दिल्ली में भी जगह-जगह जलभराव के चलते जाम का नजारा दिखा। मौसम विभाग के मुताबिक, बारिश का यह सिलसिला अगले एक-दो दिनों तक जारी रहेगा।

लगातार दूसरे दिन भी अधिकतर सड़कें पानी में डूबी
गुरुवार सुबह शुरू हुई बारिश को दो दिन बीतने को हैं, लेकिन दिल्ली के साथ एनसीआर की अधिककांश सड़कें हैं, जो अभी भी पानी में डूबी हुई हैं। यहां पर बता दें कि गुरुवार सुबह शुरू हुई बारिश रातभर चली और शुक्रवार को दोपहर तक होती रही।

इतना ही नहीं, गलियों में भी पानी भरा हुआ है। स्थानीय प्रशासन अब तक जमा पानी निकालने में कामयाब नहीं हो सका है। यह स्थिति केवल दिल्ली में ही नहीं, बल्कि गुरुग्राम, गाजियाबाद, नोएडा और फरीदाबाद में भी बनी हुई है।

नोएडा में ट्रैफिक का हाल

दलित प्रेरणा स्थल के पास ट्रक खराब होने से नोएडा ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस वे पर ट्रैफिक धीमी गति से बढ़ रहा है। डीएनडी और महामाया फ्लाईओवर पर भी जाम लगा हुआ है। शाहबेरी किसान चौक पर जाम के साथ पर्थला से लेकर सेक्टर 71 तक ट्रैफिक धीमा  है। बारिश के चलते एक दर्जन से अधिक ट्रैफिक सिग्नल बंद पड़े हैं। जानकारी के मुताबिक, 100 से अधिक ट्रैफिक कर्मी जिले से बाहर हैं और कुछ वीआईपी ड्यूटी पर हैं, इसलिए भी जाम से शहर जूझ रहा है। अभी केवल 28-30 ट्रैफिक कर्मी पूरे शहर में ट्रैफिक संचालन में लगे हैं।

दिल्ली-एनसीआर में पूरे दिन ट्रैफिक जाम की समस्या रही

इससे पहले गुरुवार को जमकर बारिश हुई। इससे जगह-जगह जलभराव हो जाने से आवागमन ठप हो गया। मूसलधार बारिश से दिल्ली सहित हरियाणा के गुरुग्राम, पलवल, फरीदाबाद और उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर व हापुड़ के कई हिस्से जलमग्न हो गए। दिल्ली कई जगह पूरे दिन ट्रैफिक ठप रहा।

मेट्रो तक हुई प्रभावित

वहीं, मेट्रो की ब्लू लाइन के सिग्नल सिस्टम में आई खराबी से द्वारका से नोएडा और वैशाली रूट प्रभावित रही। मिंटो ब्रिज के पास फिर से जलभराव के चलते भीषण जाम रहा। उधर, हरियाणा के पलवल जिले में दीवार गिरने से एक छात्रा की मौत हो गई।

खाली कराए गए 80 फ्लैट

गाजियाबाद के चाल्र्स कैसल व सुपर विलेज सोसायटी में जमीन धंस गई और दीवारों में दरारें आ गईं, वहीं वसुंधरा में वार्तालोक और प्रज्ञा कुंज सोसायटी के पास सड़क धंसने से सैकड़ों जानों पर आफत बन आई। आनन-फानन अपार्टमेंट के करीब 80 फ्लैट खाली कराए गए।

करंट लगने से मैनेजर की मौत

इंदिरापुरम में शिप्रा सनसिटी के पार्क के कोने में रखे बिजली के तार से जमा पानी में करंट उतर आया। इससे एक निजी कंपनी के प्रबंधक की मौत हो गई।

तीन मंजिला मकान गिरने से छात्रा की मौत

शहीद नगर स्थित तीन मंजिला मकान का कुछ हिस्सा गिर गया, जिससे एक छात्रा की मौत हो गई। एलिवेटेड रोड के अप्रोच मार्ग पर जलभराव होने से लोगों को खासी परेशानी हुई।

छात्रों-शिक्षकों के पहुंचने से पहले ढही छत, बाल-बाल बचे

उधर, ग्रेटर नोएडा के मुबारकपुर गांव में एक मकान गिर गया। गनीमत रही कि इसमें कोई हताहत नहीं हुआ। बिसरख के दयानतपुर गांव के जूनियर हाईस्कूल की दीवार भी गिर गई। घटना के दौरान बच्चे स्कूल में पढ़ाई कर रहे थे। हालांकि सब सकुशल बच गए।

नोएडा सेक्टर-71 में गिरी दीवार

नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे पर सुबह साढ़े आठ बजे से 11 बजे तक जाम लगा रहा। नोएडा सेक्टर 71 में एक मकान की दीवार गिर गई। उधर, हापुड़ के मोहल्ला हरद्वारी नगर में शौचालय की दीवार गिरने से एक बच्चे की मौत हो गई।

दिल्ली में थमी रफ्तार

राजधानी में जगह-जगह पानी भर गया, जिससे लोगों को सड़कों पर हर तरफ भीषण जाम का सामना करना पड़ा। गाजीपुर फ्लाइओवर, विवेक विहार अंडरपास और सीमापुरी अंडरपास के पास ट्रैफिक ठप रहा। गाजीपुर मुर्गा मंडी, खजूरी चौक व मोदी मिल के पास फ्लाई ओवर के नीचे पानी भरने से लोग जाम से जूझते रहे।

मयूर विहार, पटपड़गंज, त्रिलोकपुरी, आनंद पर्वत, मुंडका रेड लाइट और राजपथ के पास लोग फंसे रहे। अप्सरा बॉर्डर से शाहदरा, सीमापुरी से अप्सरा बॉर्डर तक जाम लगा रहा। उधर, सरिता विहार, गणोश नगर चौक, अली विलेज रेडलाइट, आरटीआर पांइट, जाकिर हुसैन कॉलेज, कालिंदी कुंज, रायसीना मार्ग, रफी मार्ग, संसद मार्ग, अशोक रोड़ सहित कई इलाकों में ट्रैफिक जाम रहा।