इटली की एक कोर्ट की ओर से सबूतों के अभाव में अगस्ता वेस्टलैंड और फिनमेक्कानिका के दो पूर्व वरिष्ठ अधिकारियों को बरी किए जाने को भारतीय जांच एजेंसियों के लिए बड़ा झटका बताया जा रहा है. वहीं अमेरिका की धमकी के बाद से पाकिस्तान का दिल कह रहा होगा कि वो एटम बम दिखाकर अमेरिका को हद में रहने की नसीहत दे. पढ़ें बुधवार सुबह की 5 बड़ी खबरें..

इटली की एक कोर्ट की ओर से सबूतों के अभाव में अगस्ता वेस्टलैंड और फिनमेक्कानिका के दो पूर्व वरिष्ठ अधिकारियों को बरी किए जाने को भारतीय जांच एजेंसियों के लिए बड़ा झटका बताया जा रहा है. इंडिया टुडे की पहुंच में मौजूद केस की फाइलों से पता चलता है कि इटली की कोर्ट की ओर से इन दो लोगों को बरी किया जाना इटली के अभियोजन पक्ष की नाकामी का नतीजा है कि वो वीवीआईपी हेलीकॉप्टर डील में संदिग्ध घूस का पैसा किन किन हाथों में गया, इसे साबित नहीं कर सका. ये मामला अगस्ता वेस्टलैंड के 12 वीवीआईपी हेलीकॉप्टर की बिक्री से जुड़ा है. ये डील 3600 करोड़ रुपए की थी.

अमेरिका की धमकी के बाद से पाकिस्तान का दिल कह रहा होगा कि वो एटम बम दिखाकर अमेरिका को उसकी हद बता दे. पाकिस्तान के कुछ बड़बोले लोग ऐसा कहते भी दिखे. लेकिन पाकिस्तान के नेता और जनरलों को पता है कि अमेरिका क्या हाल कर देगा, इसलिए वो कुछ उछलकूद के बाद चुप हो गए हैं.

बिहार के मोकामा में पटना-मोकामा मेमू पैसेंजर ट्रेन में मंगलवार-बुधवार की रात भीषण आग लग गई. पटना-मोकामा पैसेंजर ट्रेन में देर रात अचानक आग लगने के कारण छह बोगियां पूरी तरह खाक हो गईं. बोगियां धू-धू कर जलती रहीं. फास्ट पैसेंजर मेमू ट्रेन के दो इंजन भी पूरी तरह खाक हो गए. दमकल की कई गाड़ियों को बुलाकर आग पर काबू पाया गया. ट्रेन की रेक में आग लगने के कारण रेल प्रशासन में हड़कंप मच गया. इस हादसे में किसी के घायल होने की खबर नहीं है.

फिल्म ‘टाइगर जिंदा है’ दो हफ्ते में 300 करोड़ के क्लब में शामिल हो गई है. फिल्म अभी भी लोगों को खूब पसंद आ रही है और हर दिन बॉक्स ऑफिस पर इसका कलेक्शन बढ़ता जा रहा है. आखिर इतनी बड़ी कामयाबी कोई आम बात नहीं है. इस फिल्म की कामयाबी का राज हर कोई जानना चाहता है. क्या कोई फॉर्मूला है जिससे सलमान की मौजूदगी से ही फिल्में बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचाने लगती हैं. इस मुद्दे पर फिल्म स्टारर सलमान खान, कटरीना कैफ और फिल्म के डायरेक्टर अली अब्बास जफर ने खुलकर हर पहलु पर ‘आजतक’ से खास बातचीत की.

विवादित इस्लामिक प्रचारक डॉक्टर ज़ाकिर नाईक की मुश्किलें अब बढ़ सकती हैं. मलेशिया पीएमओ में मंत्री एसके देवामनी ने इंडिया टुडे से बात करते हुए कहा कि हमारे देश में अतिवाद के लिए जगह नहीं है, हम अपने देश में ऐसे किसी भी व्यक्ति को जगह नहीं देंगे जो हमें ये बताए कि हमें अपने धर्म का किस तरह पालन करना चाहिए.