उत्तर प्रदेश के बलिया से बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह अपने विवादित बयानों को लेकर सुर्खियों में रहते हैं. एक बार फिर उन्होंने ऐसा बयान दिया है जिसपर विवाद होना तय है. उन्होंने कहा कि भगवान राम भी रेप जैसी घटनाओं पर रोक नहीं लगा पाएंगे.

बलिया में मीडिया से बात करते हुए सुरेंद्र सिंह ने कहा कि मैं एक ही चीज कह सकता हूं कि भगवान राम भी धरती पर आ जाएंगे तब भी रेप की घटनाएं नहीं रुकेंगी. बीजेपी विधायक ने कहा कि यह समाज का स्वाभाविक प्रदूषण है. उन्होंने कहा कि यह हम सबका कर्तव्य है कि हम बच्चों को नैतिकता का पाठ पढ़ाएं. देश का संविधान रेप की घटनाओं पर रोक लगाने के लिए ज्यादा कुछ नहीं कर सकता. अपराधियों को सिर्फ जेल भेजा जा सकता है.

सुरेंद्र सिंह ने ये विवादित बयान उन्नाव की यौन उत्पीड़न की घटना के बारे में बात करते हुए दिया. बता दें कि सुरेंद्र सिंह ने हाल ही में ताजमहल का नाम राम महल करने का भी सुझाव दिया था.

यह कोई पहला मौका नहीं है जब सुरेंद्र सिंह ने विवादित बयान दिया है. इससे पहले उन्होंने पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी को शूर्पणखा था. उन्होंने कहा था कि बंगाल की सड़कों पर लोगों को मारा जा रहा है और वह मुख्यमंत्री होकर भी कुछ नहीं कर रही हैं.

सुरेंद्र सिंह ने कहा कि बंगाल में हिंदू सुरक्षित नहीं हैं, अगर ऐसा ही चलता रहा तो वहां भी जम्मू-कश्मीर जैसे हालात हो जाएंगे. सुरेंद्र सिंह ने कहा कि ममता बनर्जी शूर्पणखा की भूमिका में हैं, ध्यान रखिएगा की शूर्पणखा का अंत करने वाला लक्ष्मण पैदा हो गया है. नरेंद्र मोदी और अमित शाह की जोड़ी शूर्पणखा की नाक काटेगी. कांग्रेस रावण की भूमिका निभा रही है.

उन्होंने 2019 में लोकसभा चुनाव के बारे में कहा था कि यह चुनाव भगवान बनाम इस्लाम होगा. इसके अलावा उन्होंने उन्‍नाव रेप कांड के आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के बचाव में विवादित बयान दिया था. सुरेंद्र सिंह ने कहा था कि, मैं इस मामले में मनोवैज्ञानिक नजरिये से बात करता हूं, ‘कोई भी तीन बच्चों की मां के साथ रेप नहीं कर सकता. ये संभव नहीं है. ये उनके (कुलदीप सिंह सेंगर) खिलाफ साजिश है.’