इंग्लैंड की सरजमीं पर टेस्ट सीरीज से पहले भारतीय टीम वहां पर अभ्यास मैच खेल रही है. एसेक्स के खिलाफ तीन दिवसीय अभ्यास मैच में खराब शुरुआत के बाद भारत ने बुधवार को विराट कोहली की अगुआई में चार अर्धशतकों की बदौलत अच्छी वापसी की.

भारतीय टीम ने कप्तान विराट कोहली के टॉस जीतने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए शुरूआती तीन ओवरों में ही पांच रन के स्कोर पर दो विकेट गंवा दिए थे. लेकिन दिन का खेल खत्म होने तक टीम ने 84 ओवर में छह विकेट पर 322 रन बनाए.

भारत के लिए कप्तान कोहली और सलामी बल्लेबाज मुरली विजय ने चौथे विकेट के लिए 90 रन जोड़कर भारत को खराब शुरुआत से उबारा. विराट ने 68 और मुरली विजय ने 53 रन बनाए. इन दोनों के पवेलियन लौटने के बाद लोकेश राहुल के 58 और दिनेश कार्तिक (82 नाबाद) ने छठे विकेट के लिए 114 रन की अटूट साझेदारी की. वहीं हार्दिक पंड्या अभी 33 रन बनाकर उनका साथ निभा रहे हैं.

भारत की शुरूआत बेहद खराब रही सलामी बल्लेबाज शिखर धवन अपनी पारी की तीसरी ही गेंद पर विकेटकीपर जेम्स फास्टर को कैच दे बैठे. उन्हें मैट कोल्स ने आउट किया. कोल्स ने अपने अगले ओवर में खराब फार्म से जूझ रहे चेतेश्वर पुजारा को भी पवेलियन की राह दिखा दी. उनका कैच भी फास्टर ने लपका. इसके बाद लगभग 15 ओवर में एसेक्स के गेंदबाजों को सफलता नहीं मिली. लेकिन रहाणे भी 17 रन बनाकर मैथ्यू क्विन की गेंद पर फास्टर को कैच दे पवेलियन चलते बने.

विजय को कप्तान कोहली के रूप में इसके बाद उम्दा जोड़ीदार मिला. विजय ने जहां विकेट पर टिक कर बल्लेबाजी की वहीं कोहली ने खुलकर बल्लेबाजी करते हुए आकर्षक शाट खेले. विजय ने क्विन की गेंद पर चौके के साथ 104 गेंद में अर्धशतक पूरा किया जबकि कोहली ने पाल वाल्टर की गेंद पर लगातार दो चौकों के साथ 67 गेंद में 50 रन पूरे किए.

विजय हालांकि अर्धशतक पूरा करने के बाद वाल्टर की गेंद पर बोल्ड हो गए. कप्तान कोहली भी इसके बाद अधिक देर नहीं टिक सके और वाल्टर की ही गेंद पर वरूण चोपड़ा को कैच देकर पवेलियन लौट गए.

राहुल और कार्तिक ने इसके बाद तेजी से बल्लेबाजी की. दोनों ने कमजोर गेंदों पर शॉट्स खेले और बल्लेबाजी के लिए आसान हो चुके हालात का पूरा फायदा उठाया. राहुल ने 77 जबकि कार्तिक ने 51 गेंद में अर्धशतक पूरा किया. राहुल हालांकि जब काफी अच्छी लय में दिख रहे थे तब बायें हाथ के स्पिनर आरोन निज्जर की गेंद पर मैट डिक्सन को कैच दे बैठे. उन्होंने 92 गेंद का सामना करते हुए 12 चौके मारे.