बर्मिंघम: इंग्लिश लेफ्टी गेंदबाज सैम कुरेन पांच टेस्ट मैचों की सीरीज ( India tour of England, 2018) के पहले टेस्ट के दूसरे दिन (Eng vs Ind, 1st Test, 2nd day) भारतीयों के लिए बड़ी दहशत साबित हुए. इस युवा गेंदबाज ने अपनी घातक गेंदबाजी ने भारतीय शीर्ष कर्म को तहस-नहस करते हुए ‘रिकॉर्ड विशेष’ अपने खाते में जमा कर लिया. पहले विकेट के लिए जब शिखर धवन और मुरली विजय ने पचास रन जोड़े, तो लगा कि भारत अंग्रेजों को करारा जवाब देने जा रहा है, लेकिन 14वें ओवर में कुरेन ने मुरली विजय को क्या आउट किया कि एक के बाद एक झटके देकर कुरेन ने चार विकेट चटकाकर खास रिकॉर्ड अपने खाते में जमा कर लिया. हम कुरेन के रिकॉर्ड के बारे में आपको बताएंगे, उससे पहले आप दूसरे बाकी रिकॉर्डों के बारे में जान लीजिए.

विराट कोहली के 1000 रन

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने इंग्लैंड के खिलाफ एक हजार रन पूरे किए. कोहली ऐसा करने वाले 13वें भारतीय बल्लेबाज बन गए. वहीं, यह भी बता दें कि विराट कोहली ने इस पारी के साथ इंग्लैंड की जमीं पर अपना सर्वश्रेष्ठ स्कोर बनाया. इस मैच से पहले इंग्लैंड के खिलाफ हजार रन पूरे करने के लिए 23 रन की दरकार थी.

बेन स्टोक्स का डबल
हार्दिक पंड्या को आउट करते हुए बेन स्टोक्स ने टेस्ट क्रिकेट में अपना 100वां विकेट लिया. और वह ढाई हजार रन+100 विकेट का डबल बनाने वाले इंग्लैंड के पांचवें खिलाड़ी बन गए. स्टोक्स से पहले टोनी ग्रेग, इयान बॉथम, एंड्र्यू फ्लिंटॉफ और स्टुअर्ट ब्रॉड ही इस कारनामे को अंजाम दे सके हैं.

लो जी! 7 साल बाद हुआ ऐसा

अगर आप इस पर ध्यान देंगे कि इंग्लैंड की जमीं पर भारतीय ओपनरों ने आखिरी बार कब पचास रन जोड़े, तो आप याद नहीं ही कर पाएंगे. चलिए हम ध्यान दिला देते हैं. यह 18 पारियां पहले और साल 2011 में हुआ था, जब अभिनव मुकुंद और गौतम गंभीर ने लॉर्ड्स की पहली पारी में 50 रन जोड़े थे.  और अब सात साल बाद धवन और विजय ने पहले विकेट के लिए 50 रन की साझेदारी निभाई.

चलिए बात सैम कुरेन की कर लेते हैं. सैम कुरेन चटकाए गए शुरुआती चार विकेटों के साथ ही ऐसा करने वाले इंग्लैंड के सबसे युवा गेंदबाज (20 साल और 60 दिन) बन गए हैं. कुरेन से पहले यह कारनामा बिल वोस ने किया था. तब बिल वोस की उम्र 20 साल 170 दिन थी. तब उन्होंने 79 रन देकर चार विकेट चटकाए थे. और यह उन्होंने विंडीज के खिलाफ पोर्ट ऑफ स्पेन में 3 फरवरी 1930 को किया था.