नई दिल्ली: बिहार में मुंगेर जिले में कल शाम 110 फीट गहरे बोरवेल में गिरी तीन साल की सना को बाहर निकाल लिया गया है. सना बिल्कुल सुरक्षित है. हालांकि हेल्थ चेकअप के लिए उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है. ये घटना मुंगेर जिले के कोतवाली थाना अंतर्गत मुर्गीयाचक मोहल्ला की थी. ये बच्ची घर के आंगन में एक बोरवेल में गिर गई थी. करीब 30 घंटों की मशक्कत के बाद उसे निकाल लिया गया. सना अपने ननिहाल आयी हुई थी. बोरवेल में बच्ची को जिंदा रखने के लिए ऑक्सीजन पहुंचाई गई थी.

 

सफल रेस्क्यू ऑपरेशन पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने खुशी जताई और आपदा प्रबंधन विभाग, एनडीआरएफ और जिला प्रशासन को धन्यवाद दिया. मुख्यमंत्री ने सनो को बेहतर चिकित्सीय सुविधा उपलब्ध कराने का भी निर्देश दिया है.

 

मासूम की जान बचाने के लिए हर कोई अपने अपने तरीके से मदद कर रहा था. दो दिन पहले ही सना अपने पिता के साथ नाना उमेश नंदन साह के घर आई थी. मंगलवार की दोपहर खेलने के दौरान बच्ची बोरबेल में गिर गई. पुलिस प्रशासन ने एनडीआरएफ की टीम को बुलावा भेजा. बच्ची को बोरबेल से निकालने के लिए एनडीआरएफ की टीम को भी बुलाया गया था. आइटीसी के चेयरमैन वाइपी सिंह ने घटनास्थल पर आधुनिकतम लाइट की व्यवस्था की थी ताकि 110 फीट गहरे बोरबेल में गिरी बच्ची की हालात को देखा जा सके.