आयकर विभाग ने लखनऊ के राजा बाजार निवासी ‘रस्तोगी बंधु’ कन्हैया लाल रस्तोगी एवं संजय रस्तोगी के पांच ठिकानों से 36 घंटे की जांच के दौरान 100 किलो सोना एवं 10 करोड़ रुपये का कैश जब्त किया है। सोने की कीमत 31 करोड़ रुपये आंकी गई है।

यहीं नहीं ‘रस्तोगी बंधु’ के पुश्तैनी सूदखोरी के धंधे में 60 करोड़ रुपये से अधिक खपाए जाने का खुलासा हुआ है। जबकि करोड़ों रुपये की बेनामी जमीन की खरीद फरोख्त भी की गई जिसके दस्तावेज आयकर के हाथ लगे हैं।

मिले सोने के गहने व बिस्किट

आयकर विभाग के प्रवक्ता एवं डिप्टी कमिश्नर (जांच) जयनाथ वर्मा के मुताबिक कन्हैया लाल रस्तोगी एवं बेटे के घर से 8.08 करोड़ की नकदी एवं 87 किलो सोने के बिस्किट और दो किलो सोने के गहने बरामद हुए। यह सोने के बिस्किट हॉलमार्क से प्रमाणित थे जिसके सोने की शुद्धता 99.9 फीसदी थी। जबकि संजय रस्तोगी के घर से 1.13 करोड़ रुपये एवं 11.64 किलो सोना बरामद हुआ।

दोनों भाइयों के यहां से किया गया जब्त

इसमें से 8 करोड़ रुपये कन्हैया लाल रस्तोगी एवं 1.05 करोड़ रुपये संजय रस्तोगी के जब्त कर लिए गए। जबकि ‘रस्तोगी बंधु’ का सोना पूरा का पूरा जब्त कर लिया गया जिसकी कीमत करीब 31 करोड़ आंकी गई है।

किससे, कितना जब्त

बरामद नकदी

कन्हैया लाल रस्तोगी–87 किलो सोने के बिस्किट, 0.2 किलो सोने के गहने, 8.00 करोड़ कैश  संजय रस्तोगी–11.64 किलो सोना, 1.05 करोड़ कैश